मंच पर शिवपाल को खोजते रहे मुलायम, नाराज होकर अखिलेश से पूछा- तुमने उसे क्यों नहीं बुलाया

0
65

लखनऊ। बुधवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन था। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में जन्मदिन के मौके पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव व पूर्व सांसद उदयप्रताप समेत सभी वरिष्ठ नेता मौजूद थे, लेकिन अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव यहां नहीं पहुंचे। नाराज हुए मुलायम
मंच पर शिवपाल यादव की गैरमौजूदगी को देखकर मुलायम नाराज हो गए। नेताजी बार-बार अखिलेश यादव से इशारा कर नाराजगी जताते रहे। पार्टी से जुड़े व मंच पर मौजूद राज्यसभा सांसद ने बताया- “नाराज नेताजी ने कई बार कमेंट भी किया।
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पार्टी मुख्यालय पर जब पहुंचे वहां पहले से राज्यसभा सांसद किरनमय नंदा, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व कैबिनेट मंत्री पारस नाथ यादव, राजेंद्र चौधरी व राज्यसभा सांसद संजय सेठ और पार्टी सचिव व सांसद धर्मेंद्र यादव मौजूद थे।
पहले गुरु से मिले मुलायम
नेताजी की सुबह करीब 10.30 बजे पार्टी मुख्यालय पहुंचे और वहां अपने कक्ष में अपने गुरू व पूर्व सांसद उदय प्रताप से बात करते रहे उसके बाद मुलायम सिंह यादव मंच पर पहुंचे।
शिवपाल के नहीं आने पर नाराज दिखे मुलायम
मंच पर मौजूद एक राज्यसभा सांसद ने बताया- “जैसे ही नेता जी आए तो उनके और अखिलेश यादव के बीच में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा बैठे थे। इसी दौरान वो सबकी शुभकामनाएं ले रहे थे, लेकिन कुछ देर बाद ध्यान देने पर उन्हें एहसास हुआ की शिवपाल यादव मंच पर नहीं हैं।”
इसके बाद उन्होंने अपने नाराजगी भरे अंदाज में अखिलेश यादव से पूछा तुम बुलाया क्यों नहीं? वो किसी बात के लिए तुमसे जिद नहीं कर रहा है और तुम्हारे बड़े हैं। तुम उनका सम्मान नहीं कर रहे हो। हालांकि इसी दौरान अखिलेश काफी असहज दिखे पर मुस्कुराते रहे। बीच में बैठे किरणमय नंदा को बार-बार अपनी हाथों से इशारे से कुछ नाराजगी में कहते नजर आए कि- पूछो क्यों नहीं बुलाया। क्या कमी है?
भाषण में भी किया जिक्र
मुलायम सिंह यादव ने अपने भाषण में अखिलेश यादव के सरकार की तारीफ तो की लेकिन कमेंट भी किया। उन्होंने कहा- “ऐसे 2 व्यक्तियों को इसने बड़े पद पर बैठा रखा है, जो अपने परिवार के वोट भी पार्टी को नहीं दिला पाए। इनसे तो अच्छा वो है, जिसने दूर रहकर कई सीटें जिताई। इस बात को समझना होगा।”
वहीं मौजूद एक सांसद ने बताया- “मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार रात ही शिवपाल यादव को मिलने बुलाया था, लेकिन शहर से बाहर और अखिलेश यादव के द्वारा सम्मान नहीं मिलने की बात कहकर आने से इंकार कर दिया था।”
केक खाने से इनकार कर रहे थे अखिलेश
अखिलेश और मुलायम के बीच कुछ तल्खी नजर आई। अखिलेश ने तो केक खाने से भी इनकार कर दिया। बाद में मुलायम ने पार्टी के सीनियर लीडर किरणमय नंदा को बुलाया और उनसे अखिलेश को पकड़ने को कहा। इसके बाद अखिलेश को केक खिलाया गया। हालांकि, बाद में मुलायम ने कहा- हम अखिलेश को आशीर्वाद देते रहेंगे। वो लड़का पहले है और नेता बाद में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here