भारत डिजिटल मुद्रा के युग में पीछे नहीं रह सकता : मोदी

0
64

कर्नाटक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भारत ‘‘डिजिटल मुद्रा युग’’ में पीछे नहीं रह सकता और उन्होंने उन ‘दिग्गजों’ पर प्रहार किया जिन्होंने डिजिटल लेन-देन पर सरकार द्वारा बल दिये जाने का मजाक उड़ाया है।
उन्होंने मेंगलुरु से करीब 50 किलोमीटर दूर तटीय दक्षिण कन्नड़ जिले में यहां एक रैली में कहा, ‘‘अब डिजिटल मुद्रा का युग शुरु हो गया है और भारत को उसमें पीछे नहीं रहना चाहिए। ’’ उन्होंने कहा कि डिजिटलीकरण का लक्ष्य जवाबदेही लाना है तथा अधिक नकद से सामाजिक बुराइयां आएंगी।
प्रधानमंत्री ने उन लोगों पर भी प्रहार किया जो अपने आप को ‘तीस मार खां’ समझते हैं और डिजिटल लेन-देन को संदेह की नजर से देखते हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘पिछले नवंबर, दिसंबर और जनवरी में दिग्गजों ने संसद में भाषण दिया। यदि आपने उन्हें नहीं सुना तो सुनिए। ये दिग्गज, जो अपने आप को तीस मार खा के रुप में देखते हैं, जो खुद को ज्ञान का केंद्र मानते हैं, कहा करते थे कि भारत में गरीबी है, शिक्षा का अभाव है ऐसे में डिजिटल लेन-देन कैसे काम कर सकता है। ’’ उन्होंने कहा कि उन्होंने आश्चर्य प्रकट किया कि कैसे लोग बेनकदी हो सकते हैं।
मोदी ने श्री क्षेत्र धर्मस्थला ग्रामीण विकास परियोजना की रैली में कहा, ‘‘उन्होंने डिजिटल लेन-देन की बुराइयां गिनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।’’ इस रैली में उन्होंने प्रतीकात्मक ढंग से एक लाभार्थी को रुपे कार्ड भेंट किया।
इस परियोजना के तहत करीब 12 लाख प्रधानमंत्री जनधन योजना खाता धारक रुपे कार्ड से लाभान्वित होंगे। परियोजना का प्रबंधन धर्मस्थला के धर्माधिकारी (आनुवांशिक प्रशासक) वीरेंद्र हेगड़े के हाथों में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here