आतंकवादी संगठनों के रहनुमाओं को बेनकाब करने का वक्त: ट्रंप

0
100

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज दुनिया के नेताओं से कहा कि यह उन देशों को ‘बेनकाब करने’ और ‘जिम्मेदार ठहराने’ का समय है जो आतंकवादी संगठनों को धन मुहैया कराते हैं और उन्हें पनाह देते हैं. कुछ हफ्ते पहले उन्होंने पाकिस्तान को ‘अराजकताओं के एजेंटों’ का समर्थन करने को लेकर चेतावनी दी थी.संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने पहले भाषण में ट्रंप ने कहा कि सभी जिम्मेदार राष्ट्रों को आतंकवादियों और ‘उन्हें शह देने वाले इस्लामिक चरमपंथियों’ का मुकाबला करने के लिए मिलकर काम करना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘हम कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को रोकेंगे, क्योंकि हम उसे अपने देश को, वाकई में पूरी दुनिया को तहस-नहस नहीं करने दे सकते.’’

किसी देश का नाम लिए बगैर ट्रंप ने कहा, ‘‘यह उन देशों को बेनकाब करने और जिम्मेदार ठहराने का समय है जो आतंकवादी संगठनों की फंडिंग करते हैं और उन्हें पनाह देते हैं.’’

ट्रंप ने कहा कि देशों को आतंकवादियों को उनकी घिनौनी विचारधाराओं के चलते पनाहगाह, प्रशिक्षण, फंडिंग और किसी भी प्रकार के सहयोग से वंचित करना चाहिए. 

उन्होंने कहा, ‘‘हमें अपने देशों से उन्हें हर हाल में खदेड़ देना चाहिए. यह उन देशों को बेनकाब करने और जिम्मेदार ठहराने का वक्त है जो अलकायदा, हिज्बुल्ला और तालिबान जैसे आतंकवादी संगठनों को सहयोग पहुंचाते हैं और पैसा उपलब्ध कराते हैं.’’

उन्होंने कहा कि अमेरिका और उसके सहयोगी, आतंकवादियों को कुचलने और पनाहगाहों को फिर से उभरने से रोकने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं. अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया में अपनी नई रणनीति को याद करते हुए उन्होंने कहा कि इसका लक्ष्य युद्ध प्रभावित अफगानिस्तान में आतंकवादियों को पराजित करना है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी फिलहाल यहां हैं और संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में अपने देश के प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई कर रहे हैं.