अब कार पर बढ़े हुए जीएसटी का भार

0
64

वस्तु एवं सेवा कर के लागू होने के बाद से की सामानों के दामों में अकस्मात वृद्धि हो गई थी। इसे देखते हुए जीएसटी काउंसिल ने उपभोक्ताओं की जरुरत के आधार पर करीब 40 उत्पादों के दाम कम कर दिए है।यह निर्णय काउंसिल द्वारा हैदराबाद में हुई 21वीं मीटिंग में ली गई। इसके तहत नॉन ब्रांडेड फूड आइटम्स पर जीएसटी नहीं वसूला जाएगा। जब कि ब्रांडेड फूड प्रोडक्टस को 5 फीसदी वाले जीएसटी के स्लैब में रखा गया है।

जीएसटी काउंसिल ने रविवार को 40 सामानों की डिटेल लिस्‍ट अपने ट्विटर अकाउंट पर जारी की है। इन आइटम्स पर टैक्‍स रेट कम कर दिया गया है। इसके तहत प्लास्टिक रेनकोट पर जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी, साड़ी के फॉल पर 12 से घटाकर 5 फीसदी कर दी गई।

बता दें कि लग्जरी कारों पर सेस को काउंसिल ने मंजूरी दे दी। लग्जरी कारों पर सेस में 5 फीसदी और एसयूवी पर 7 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है। मिड सेगमेंट की कारों पर सेस 2 फीसदी बढ़ाया गया है और छोटी कारों पर सेस 2 फीसदी ही रहेगा।

वित मंत्री अरुण जेटली ने इसकी जानाकारी देते हुए कहा कि छोटी कारों के जीएसटी में कोई बदलाव नहीं किया गया है। उन्होने कहा कि छोटी कार खरीदने वालों पर कोई अतिरिक्त भार नहीं दिया गया है। उन्होंने बताया कि काउंसिल ने तय किया है कि मिड साइज कारों के सेस में 2 फीसदी की बढ़ोतरी होगा।

वहीं बड़ी कारों पर सेस 5 फीसदी बढ़ाया गया है। एसयूवी पर 7 फीसदी सेस बढ़ाया गया है। 13 सीटर व्हीकल्स पर टैक्स में कोई बदलाव नहीं किया गया है।