कंगारुओं से वर्ल्ड कप में 30 साल पहले मिली हार का बदला लेगी टीम इंडिया

0
25

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच रविवार 17 सितंबर को चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में पांच मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला खेला जाएगा. इस मैच में विराट ब्रिगेड 30 साल पहले मिली हार का बदला लेने के मकसद से खेलेगी. इससे पहले आखिरी बार दोनों टीमों के बीच इस मैदान पर एकमात्र वनडे मैच 9 अक्तूबर 1987 को क्रिकेट वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के दौरान खेला गया था.30 साल पहले चेन्नई में ऑस्ट्रेलिया से हरा था भारत

भारतीय टीम जब रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज का पहला वनडे खेलने उतरेगी तो वे 30 साल बाद चेपॉक के मैदान पर कोई वनडे मैच खेलेंगे. 1987 में रिलायंस वर्ल्ड कप के मैच में जब भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम इस मैदान पर आमने-सामने थी, तो उसमें भारतीय टीम को 1 रन से हार का सामना करना पड़ा था.

श्रीकांत और नवजोत सिद्धू भी नहीं दिला सके जीत

रिलायंस वर्ल्ड कप के इस बेहद रोमांचक मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ज्योफ मार्श की 110 रन की पारी से 50 ओवरों में छह विकेट पर 270 रन बनाए थे. के श्रीकांत (70) और नवजोत सिद्धू (73) के अर्धशतकों से भारत एक बार जीत की स्थिति में दिख रहा था लेकिन आखिर में उसने 40 रन के अंदर सात विकेट गंवा दिए और टीम इंडिया एक रन से यह मैच हार गई.

चेपॉक में भारत और ऑस्ट्रेलिया का सिर्फ 1 बार हुआ सामना 

चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में अब तक कुल 21 वनडे खेले गए हैं, लेकिन संयोग से सिर्फ 1 ही बार भारत और ऑस्ट्रेलिया का सामना हुआ है. हालांकि भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया ने इस मैदान पर तीन वनडे और खेले थे, लेकिन तब उसके प्रतिद्वंद्वी जिंबाब्वे, वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड थे.

चेन्नई में टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड

भारत ने चेपॉक पर कुल 11 मैच खेले हैं, जिनमें से छह में उसे जीत और चार में हार मिली जबकि एक मैच का परिणाम नहीं निकला. ऑस्ट्रेलिया ने इसके बाद चेपॉक पर जो तीन अन्य मैच खेले उनमें उसने आसानी से जीत दर्ज की. चेपॉक स्टेडियम में ऑस्ट्रेलियाई टीम का रिकॉर्ड शत प्रतिशत है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया ने इस बीच हालांकि चेपॉक पर चार टेस्ट मैच खेले और इनमें से तीन में भारतीय टीम विजेता रही जबकि एक मैच ड्रा समाप्त हुआ था. भारत ने 1998, 2001 और 2013 में खेले गए टेस्ट मैच में जीत हासिल की थी, जबकि इस बीच 2004 में खेला गया टेस्ट ड्रा रहा था.