इरमा: मयामी में चेतावनी के बावजूद, लोगो ने नहीं छोड़ा अपना आशियाना…

0
84
इन दिनों अमेरिका के कई शहरों में इरमा तूफान ने तबाही मचा रखी है। क्यूबा में तबाही मचाने के बाद रविवार को इरमा, अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत के तट से टकराया। इसके चलते दक्षिण में स्थित उष्णकटिबंधीय द्वीपों के समूह फ्लोरिडा कीज में 200 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं। इस तूफान के चलते मयामी में भारी बारिश भी शुरू हो गई है। साथ ही कई जगह बिजली गुल होने की भी खबरें हैं। 
तूफान को देखते हुए प्रशासन ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है। मयामी बीच जो अक्सल युवा सैलानियों से भरा रहाता था, वह शनिवार से वीरान पड़ा है। तूफान की चेतावनी मिलने के बाद बीच के किराने बने होटल और रेस्टोरेंट शुक्रवार को आखिरी समय में बंद कर दिए गए। 

ऐसे में कुछ स्थानीय लोग प्रशासन की चेतावनी के बाद भी बीच खाली नहीं कर रहे हैं। उनका कहा है कि वह इस यहीं पैदा हुए हैं और उन्हें तूफान से कोई खतरा नहीं है। उनका कहना है कि समुंद्र प्याले में रखी चाय की तरह शांत है, उसमें कोई हलचल नहीं है। 

प्रशासन ने तूफान की चेतावनी के बाद लगभग 6.3 मिलियन लोगों को राज्य खाली करने का सुझाव दिया है। अथॉरिटी ने जानलेवा बवंडर और समुद्री लहरों की चेतावनी जारी की है, जिसमें बताया गया है कि समुद्र की लहरें सामान्य से लगभग 15 फिट ऊंची उठ सकती हैं। 

ऐसे समय में एक युवक बीच पर बिना डर के बैठा हुआ था। उसने बताया कि मैं इस जगह को जानता हूं, यह मेरा आईलैंड है। मैं इसे खाली करके नहीं जा रहा हूं।

गौरतलब है कि इरमा के तूफान से जान बचाने के लिए लोग सुरक्षित ठिकाने तलाश रहे हैं। होटल पूरी तरह भर चुके हैं। जान बचाने के कई लोग 1500 किलोमीटर दूर ओहायो तक पहुंचे हैं। फ्लोरिडा में बड़ी संख्या में भारतीय रहते हैं। ऐसे में भारतीय दूतावास ने भी राहत एवं बचाव उपायों में ताकत झोंक दी है। फ्लोरिडा में भारतीय-अमेरिकी नागरिकों की आबादी करीब 1.20 लाख है। इनमें से हजारों लोग मयामी, फोर्ट लोडरडेल और टेम्पा में रहते हैं।