बिना टिकट यात्रा कर रहा था कबूतर, खतरे में पड़ गई बस कंडक्टर की नौकरी

0
35

तमिलनाडु में एक बस कंडक्टर को सिर्फ इसलिए नोटिस थमा दिया गया क्योंकि उसने कबूतर को बिना टिकट यात्रा करने दिया। मामले की जांच भी जारी है और अगर कंडक्टर दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

यह घटना उस वक्त घटी जब राज्य परिवहन निगम की बस हरूर से एलावडी की ओर जा रही थी। बीच रास्ते टिकट चेक करने वाले कर्मी बस पर चढ़े और यात्रियों की टिकट की जांच करने लगे…

तभी टिकट चेक करने वाले कर्मियों की नजर कबूतर पर पड़ी। खिड़की के पास वाली सीट पर बैठा यह कबूतर जिस यात्री के साथ पाया गया वह शराब के नशे में चूर था।

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ में छपी खबर के अनुसार जब कंडक्टर से पूछा गया कि उसने कबूतर का टिकट क्यों नहीं काटा, तो उसने बताया कि जब वह यात्री बस में चढ़ा था तो उसके साथ कबूतर नहीं था।

टिकट चेक करने वाले इंस्पेक्टर ने नियमों का हवाला देते हुए बताया कि अगर यात्री के साथ कोई जानवर या पक्षी भी बस पर सवार होता है तो उसका भी टिकट लेना अनिवार्य है। हालांकि विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि नियमों के मुताबिक, ‘अगर कोई यात्री 30 से ज्यादा कबूतर के साथ बस की यात्रा करता है तो उसे टिकट का एक-चौथाई दाम अलग से चुकाना होगा। लेकिन नियम में सिर्फ एक कबूतर के साथ यात्रा करने पर टिकट लेने का प्रावधान नहीं है।’