तबाही का दूसरा नाम है ये मिसाइल, पलभर में कई देशों को कर सकती है बर्बाद

0
89

 New Delhi: Russia की Nuclear Technology का प्रतिरोध करने के लिए यूएस आर्मी बेहद ‘विनाशकारी’ हथियार के आर्मी में इस्तेमाल पर विचार कर रही है।

इस हथियार का नाम Kinetic Energy Projectile (केईपी) है। टंगस्टेन टेक्नॉलजी पर आधारित यह वॉर हेड ध्वनि की गति से भी तीन गुना ज्यादा तेज है और अपने रास्ते में आने वाली हर एक चीज को तबाह कर सकता है। लॉन्च होने के बाद इस मिसाइल में जलते हुए धातु निकलते हैं, जो किसी भी तरह के कवच को भेदने में सक्षम हैं। 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रूस के पास अमेरिका के ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब’ से भी चार गुना ज्यादा ताकतवर हथियार है। बीते दिनों अमेरिका ने ‘एमओएबी’ से ही अफगानिस्तान में 36 आईएसआईएस आतंकियों को मारा था। इसके बाद, यूएस आर्मी को ‘सुपर वेपन’ की जरूरत महसूस हुई, जो उन्हें केईपी तक ले गई। अमेरिकी आर्मी के रणनीति, प्लान और पॉलिसी के मेजर जनरल विलियम हिक्स ने बताया कि इस हथियार को आप बड़े शॉटगन गोलों की तरह भी समझ सकते हैं। हालांकि इसकी गति ही इसकी ताकत है। जो ध्वनि की गति से भी तीन गुना ज्यादा तेज है।

 2013 में वॉरहेड के पहले टेस्ट रन के दौरान, वह जिस स्लेज ट्रेन से जुड़ा हुआ था, उसकी स्पीड 3500 फीट प्रति सेकंड पहुंच गई थी। यह आवाज की रफ्तार से भी लगभग तीन गुना ज्यादा थी। हिक्स ने यह भी बताया कि इससे ज्यादा कुछ नहीं बच सकता है। अगर आप मुख्य टैंक में हैं और चालक दल के सदस्य हैं, तो आप बच सकते हैं, लेकिन इसके अलावा जो भी इसके आसपास होगा वह मारा जाएगा।