ब्लू वेल चैलेंज से तनाव का सामना कर रहे लोगों के लिए बनी हेल्पलाइन

0
71

ब्लू वेल चैलेंज की वजह से टीनएज बच्चों द्वारा दुनियाभर में आत्महत्या करने के गंभीर मामले सामने आ रहे हैं। भारत में भी ब्लू वेल चैलेंज की वजह से अब तक कई किशोर आत्महत्या कर चुके हैं। ऐसे में दिल्ली के एक निजी अस्पताल ने मौजूदा हालात को देखते हुए एक हेल्पलाइन की शुरुआत की है। फोर्टिस अस्पताल के मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग ने भारत में ब्लू वेल चैलेंज में भाग लेने वाले बच्चों द्वारा उठाये जा रहे गंभीर कदम के मामलों को ध्यान में रखते हुए 24 घंटे संचालित होने वाली हेल्पलाइन की शुरुआत की है।

अस्पताल की ओर से शुरू की गई यह हेल्पलाइन ऐसे सभी बच्चों के लिए उपलब्ध है जो इस गेम में भाग लेते हुए अनावश्यक मानसिक तनाव का सामना कर रहे हैं। अपने परिवार में बच्चों या किशोरों के व्यवहार में किसी भी तरह का नकारात्मक बदलाव देख रहे लोग भी इस हेल्पलाइन की मदद ले सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 8376804102 के माध्यम से लोग प्रशिक्षित विशेषज्ञों से खुलकर बातचीत कर सकते हैं और तत्काल मदद प्राप्त कर सकते हैं।

मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग के निदेशक डॉ समीर पारिख के दिशा निर्देशन में फोर्टिस अस्पताल के मनोवैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों द्वारा इस हेल्पलाइन का संचालन किया जा रहा है। डॉ पारिख ने कहा, ‘हमने लोगों की मनोवैज्ञानिक मदद के लिए 24 घंटे चालू रहने वाली हेल्पलाइन की शुरुआत की है। हमें किशोरों और उनके अभिभावकों दोनों की तरफ से फोन आ रहे हैं।’