2019 में यूपी में बीजेपी का स्कोर 73 प्लस होगाः महेंद्र नाथ पांडे

0
59

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने यूपी की कमान अब महेंद्र नाथ पांडे के हाथों में सौंप दी है. यूपी की कमान थामने के बाद पांडे ने आजतक से खास बातचीत की. पांडे ने कहा कि प्रदेश पर ज्यादा फोकस करने के लिए मंत्री पद से इस्तीफा दिया है. उन्होंने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री से अनुरोध किया कि आपने इतना बड़ा दायित्व दिया है. उसको निभाने के लिए जो जिम्मेदारी सौंपी है, उससे मुझे मुक्त करिए ताकि पूरा समय उत्तर प्रदेश में दे सकूं. महेंद्र नाथ पांडे ने कहा कि 2019 में 73 प्लस सीटें बीजेपी को मिलेंगी.

यूपी बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि 2019 का लक्ष्य हम सबके लिए बेहद जरूरी है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अमित शाह की अगुवाई सबसे ज्यादा स्वीकार्य है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी इतनी बड़ी पार्टी है कि कार्यकर्ताओं को कब किस काम में लगाना है. यह पार्टी तय करती है.

कौन मंत्री रहेगा, नहीं रहेगा, नेतृत्व तय करेगा

मंत्रियों के इस्तीफे के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह नेतृत्व का विषय है और इस विषय पर क्या विश्लेषण करना है यह सर्वोच्च नेतृत्व तय करेगा. कौन मंत्री रहेगा, नहीं रहेगा, क्या काम करेगा यह पार्टी नेतृत्व का फैसला है. पांडे ने कहा कि प्रधानमंत्री खुद परफॉर्मर हैं इसलिए चाहते हैं कि उनके मंत्री भी परफॉर्म करें. हर कार्यकर्ता बेहतर रिजल्ट दे.

महेंद्र नाथ पांडे ने कहा कि मुझे प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की भनक भी नहीं थी. उन्होंने कहा, ‘मैं चंदौली में अपने संसदीय क्षेत्र में काम में लगा था, तभी मुझे राष्ट्रीय अध्यक्ष का निर्देश आया कि आप दिल्ली आइए और आने पर मुझे यह बताया गया कि मुझे प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है.’

उमा भारती और कलराज मिश्रा

 उन्होंने कहा कि उमा भारती और कलराज मिश्र हमारे आदरणीय सम्मानित नेता हैं. उनका प्रदेश में अहम योगदान रहा है. कलराज मिश्र का मुझ पर हमेशा आशीर्वाद रहा है. मैंने कहा कि पार्टी तय करती है कि किसको कहां लगाया जाना चाहिए और पार्टी ने ही मुझे जिम्मेदारी दी है. उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व तय करेगा कि जिन मंत्रियों की संगठन से छुट्टी हुई है, उनको क्या रोल देना है. यह सब हमारे आदरणीय वरिष्ठ नेता हैं, प्रदेश में जहां उनकी उपयोगिता होगी. उनका उपयोग किया जाएगा.

‘समन्वय संवाद के लिए पार्टी में जाना चाहता हूं’

पांडे ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हम लोग सभी वर्गों को साथ लेकर चलेंगे. योगी आदित्यनाथ, दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या सब लोग साथ में एक समन्वय बनाएंगे. मैं पार्टी का पुराना नेता और एक पुराना कार्यकर्ता हूं. समन्वय और संवाद के लिए ही मैं पार्टी में जाना चाहता हूं और निश्चित तौर पर मैं इस ओर पूरी निष्ठा से काम करूंगा. ताकि पार्टी में सबके बीच समन्वय हो.

जनता के लिए काम करने की आकांक्षा

मैंने कभी आकांक्षाएं नहीं पाली. संगठन में जब भी जो जिम्मेदारी दी गई, पूरी लगन से मैंने पूरी की. हमेशा सोचा विधानसभा में जाऊंगा जनता की आवाज बनूंगा. लोकसभा लड़ूंगा और देश का विकास करूंगा. मुझे ये मौका मिला. इसके लिए बहुत आभारी हूं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here